Newsnowसेहतओरल हाइजीन भी है उतना ही ज़रूरी जितना दांत और मसूड़े मजबूत...

ओरल हाइजीन भी है उतना ही ज़रूरी जितना दांत और मसूड़े मजबूत रखना।

दांतों की मजबूती के लिए केवल टूथपेस्ट ही नहीं बल्कि ओरल हाइजीन यानी पूरे मुंह की सफाई भी महत्‍वपूर्ण है. ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आप अपनी डेली हाइजीन के दौरान थोड़ासा समय और ध्यान अपने मुंह की सही तरीके से सफाई पर देंगे तो आप कई गंभीर बीमारियों से खुद को बचा पाएंगे. तो चलिए जानते हैं कि किस तरह आप अपने मुंह को साफ, स्वस्थ और बीमारियों से दूर रख सकते हैं.

ओरल हाइजीन से नहीं होगा बीमारियों का खतरा

जिस तरह से आप अपने शरीर को स्वच्छ रखते हैं, ठीक वैसे ही अगर आप अपने मुंह को स्वच्छ नहीं रखेंगे तो दांतों मसूड़ों से संबंधित कई संक्रमणों के होने का खतरा बढ़ सकता है. दांतों में सड़न, जिंजिवाइटिस, बैक्टीरियल संक्रमण, सांसों की बदबू आदि जैसी परेशानियां तो होंगी ही, साथ ही इससे शरीर के दूसरे हिस्सों में भी समस्याएं हो सकती हैं. एक रिसर्च के मुताबिक, दांतों और मसूढ़ों की समस्‍या हृदय रोग का कारण बन सकती है.

मीठे ड्रिंक्स पीने से रहें दूर हो सकता है हार्ट अटैक का खतरा

टूथब्रश इस्तेमाल करते समय रखें ध्यान


आप चाहें ब्रश करने के लिए कोई भी टूथपेस्ट इस्तेमाल करें इससे फर्क नहीं पड़ता, लेकिन इस बात का आपको हमेशा ध्यान रखना है कि आपका टूथब्रश कितना असरदार है, आपके लिए यह जानना बहुत ज़रूरी है. टूथपेस्ट दांतों की सफाई में 10 फीसदी भूमिका निभाता है. लेकिन 80 से 95 फीसदी का काम आपका ब्रश ही करता है. वैसे तो बाजारों में टूथब्रश के बहुत से विकल्प मौजूद हैं पर इन्हें खरीदते वक्त हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि ब्रश मुलायम हों जिससे दांतों की सफाई भी हो और आपके मसूड़ों को कोई नुकसान भी पहुंचे.

अपनाएं ये हेल्दी हैबिट्स


सही तरीके से ब्रश करना ही आपके ओरल हाइजीन के लिए काफी नहीं होता। इसके लिए आपको कई छोटीछोटी सावधानियां भी बरतना आवश्यक है, जैसे:
दिन में दो बार ब्रश ज़रूर करें
खाने के बाद हमेशा कुल्ला ज़रूर करें
कभी भी बहुत अधिक चॉकलेट, कैफीन आदि का सेवन करने से बचें
पान मसाला और धूम्रपान से हमेशा दूरी बनाकर रखें
बच्चों के दूध वाले दांतों का भी उसी तरह ख्याल रखें और कम उम्र से ही बच्चों को ब्रश करने की आदत डालें