Newsnowप्रमुख ख़बरेंGreta Thunberg पर दिल्ली पुलिस की FIR, बोलीं-अब भी किसानों के साथ...

Greta Thunberg पर दिल्ली पुलिस की FIR, बोलीं-अब भी किसानों के साथ खड़ी हूं

क्लाइमेट चेंज एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने अपने खिलाफ दिल्ली पुलिस की एफआईआर के बाद फिर किसान आंदोलन (Farmers Protest) का समर्थन किया है.

New Delhi: क्लाइमेट चेंज एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने अपने खिलाफ दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की एफआईआर के बाद फिर किसान आंदोलन (Farmers Protest) का समर्थन किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मैं अब भी किसानों के साथ खड़ी हूं और उनके शांतिपूर्वक विरोध का समर्थन करती हूं। नफरत, धमकी या मानवाधिकारों के उल्लंघन इसे बदल नहीं सकता है।

अमेरिकी एक्ट्रेस Amanda Cerny ने किसान आंदोलन का किया समर्थन, इंस्टाग्राम पर खुलकर रखी अपनी राय

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) पर आपराधिक षड्यंत्र और सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने का आरोप लगाते हुए एफआईआर (FIR) दर्ज किया था। स्वीडन की रहने वाली ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) पर आईपीसी के सेक्शन 153 A और 120B के तहत FIR दर्ज की गई है। दिल्ली पुलिस ने ग्रेटा के खिलाफ उनके कई ट्वीट्स पर संज्ञान लिया है, जिन्हें भड़काऊ करार दिया जा रहा है।

Farmers Protest: रिहाना के ट्वीट के बाद सरकार के मंत्रियों और बॉलीवुड सितारों ने संभाला मोर्चा

ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने मंगलवार को ट्वीट किया ता कि हम भारत में किसानों के आंदोलन (Farmers Protest) के प्रति एकजुट हैं। उन्होंने इसके साथ ही सीएनएन (CNN) की एक खबर टैग की जिसका शीर्षक था, ‘प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस में झड़प के बीच भारत ने नयी दिल्ली के आसपास इंटरनेट सेवा बंद की।’ इतना ही नहीं, एक अन्य ट्वीट में उन्होंने किसान आंदोलन (Farmers Protest) को लेकर एक कथित दस्तावेज भी शेयर की थी, जिसमें आंदोलन के समर्थन की प्लानिंग लिखी हुई थी।

Farmers Protest: दिल्ली के धरनास्थलों पर इंटरनेट सेवाएं दो फरवरी की रात तक निलंबित

ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) को जलवायु संकट के खिलाफ लड़ाई में सबसे अग्रणी वक्ता के रूप में जाना जाता है। उन्होंने कई बार अपने भाषणों से लोगों का दिल जीता है। इसके अलावा डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के साथ उनकी ट्विटर वॉर की भी खूब चर्चा हुई थी। दिसंबर 2020 में स्वीडन की इस 16 साल की पर्यावरण ऐक्टिविस्ट को प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन ने 2019 का ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ चुना गया था।

Kangana Ranaut: किसानों को ‘आतंकवादी’ कहा, इसलिए मेरे 6 ब्रांड कॉन्टेक्ट रद्द हुए

ग्रेटा (Greta Thunberg) ने अपने ट्वीट में भारत विरोधी एक दस्तावेज भी ट्वीट किया था, जिसमें मोदी सरकार (Modi Government) और भारत के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एजेंडा चलाने की प्लानिंग लिखी हुई थी। इसमें लोगों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में आंदोलन (Farmers Protest) में शामिल होने और फोटो-वीडियो को शेयर करने के लिए कहा गया था। इतना ही नहीं, सोशल मीडिया प्लेटफार्म्स पर इसके जरिए एक डिजिटल स्ट्राइक करने की भी योजना बनाई गई थी। भारत सरकार पर दबाव कैसे बनाया जाए इसकी भी प्लानिंग की गई थी।