NewsnowदेशLiquor Scam मामले में ईडी के सामने पेश हुईं कविता

Liquor Scam मामले में ईडी के सामने पेश हुईं कविता

नई दिल्ली: बीआरएस नेता और तेलंगाना के मुख्यमंत्री ‘के चंद्रशेखर राव’ की बेटी के कविता सोमवार को Liquor Scam मामले में दूसरे दौर की पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश हुईं। ईडी ने इससे पहले 11 मार्च को उनसे मामले के संबंध में नौ घंटे तक पूछताछ की थी।

Kavita appeared before ED in liquor scam case
Liquor Scam मामले में ईडी के सामने पेश हुईं कविता

गुरुवार (16 मार्च) को उनसे दूसरे दौर की पूछताछ की जानी थी, जिसे उन्होंने यह कहते हुए छोड़ दिया कि वह ईमेल के माध्यम से जवाब देंगी या अपने आवास पर उनसे मिलेगी। जिसके बाद, 20 मार्च को ईडी ने दोबारा जांच में शामिल होने के लिए एक और समन भेजा।

पिछले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट ने ईडी द्वारा बीआरएस नेता को समन किए जाने पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। कविता ने गुहार लगाई थी कि एजेंसी को उनके आवास पर उनसे पूछताछ करनी चाहिए। उन्होंने तर्क दिया था कि एक महिला को बार-बार ईडी कार्यालय नहीं बुलाया जा सकता है।

Liquor Scam मामले मे कविता से पूछताछ

Kavita appeared before ED in liquor scam case
Liquor Scam मामले में ईडी के सामने पेश हुईं कविता

पहली उपस्थिति के दौरान, कथित तौर पर उनका सामना हैदराबाद के व्यवसायी अरुण पिल्लई से हुआ, जिन्होंने दक्षिण समूह का प्रतिनिधित्व किया था। इस समूह पर आरोप है कि उसने आप नेताओं को 100 करोड़ रुपये की घूस दी, जिसका इस्तेमाल कथित तौर पर गोवा विधानसभा चुनाव के दौरान किया गया था।

कविता ने पूछताछ में कहा है कि वह कभी मनीष सिसोदिया से नहीं मिलीं, जिन्हें सीबीआई और ईडी ने Liquor Scam मामले में गिरफ्तार किया है, उन्होंने दावा किया की उन्हें इस मामले में अनावश्यक रूप से घसीटा जा रहा है। ईडी के मुताबिक, कविता भी एक्साइज पॉलिसी मामले में साउथ ग्रुप के प्रतिनिधियों में से एक है।

Kavita appeared before ED in liquor scam case
Liquor Scam मामले में ईडी के सामने पेश हुईं कविता

सीबीआई ने पिछले साल दिसंबर में कथित दिल्ली शराब नीति घोटाले के सिलसिले में कविता से पूछताछ की थी। सीबीआई ने इस मामले में सात आरोपियों के खिलाफ पिछले साल नवंबर मे अपना पहला आरोपपत्र दायर किया था।

ईडी ने Liquor Scam मामले में अब तक 12 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री और आप नेता मनीष सिसोदिया भी शामिल हैं।