शुक्रवार, अक्टूबर 22, 2021
Newsnowप्रमुख ख़बरेंसरकार है या पुरानी हिंदी फ़िल्म का लालची साहूकार? पेट्रोल Excise duty...

सरकार है या पुरानी हिंदी फ़िल्म का लालची साहूकार? पेट्रोल Excise duty पर राहुल गांधी

पेट्रोल पर Excise duty ₹ 19.98 प्रति लीटर से बढ़ाकर ₹ 32.9 कर दिया गया था और डीजल पर पिछले साल ₹ 15.83 प्रति लीटर से बढ़ाकर ₹ 31.8 कर दिया गया था

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने आज पेट्रोल और डीजल पर Excise duty पर केंद्र पर कटाक्ष करते हुए पूछा कि क्या यह सरकार है या “पुरानी हिंदी फिल्मों से लालची साहूकार?”

Excise duty से कर संग्रह 88 प्रतिशत बढ़कर ₹ 3.35 लाख करोड़ हो गया।

उनका हमला लोकसभा को सूचित किए जाने के एक दिन बाद आया कि पिछले वित्त वर्ष में Petrol-Diesel पर केंद्र सरकार का कर संग्रह 88 प्रतिशत बढ़कर ₹ 3.35 लाख करोड़ हो गया।

इस मुद्दे पर एक मीडिया रिपोर्ट को टैग करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘एक तरफ वे लोगों को कर्ज लेने के लिए उकसा रहे हैं, दूसरी तरफ पेट्रोल और डीजल पर Excise duty वसूली के जरिए अंधाधुंध कमाई कर रहे हैं।

Crude Oil की कीमतों में गिरावट के बावजूद Petrol, Diesel की कीमतों में बढ़ोतरी

“यह सरकार है या पुरानी हिंदी फिल्मों का लालची साहूकार?” पूर्व कांग्रेस प्रमुख ने हिंदी में एक ट्वीट में हैशटैग “#TaxExtortion” का उपयोग करते हुए कहा।

पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क को पिछले साल ₹ 19.98 प्रति लीटर से बढ़ाकर ₹ 32.9 कर दिया गया था, जो अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतों से उत्पन्न होने वाले लाभ को महामारी प्रभावित मांग के रूप में बहु-वर्ष के निचले स्तर पर ले जाने के लिए था।

“देश जानता है कि मुश्किल समय कौन लाया”: Rahul Gandhi का केंद्र पर हमला

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री रामेश्वर तेली के लोकसभा में एक लिखित उत्तर के अनुसार, डीजल पर इसे ₹ 15.83 प्रति लीटर से बढ़ाकर ₹ 31.8 कर दिया गया।

उन्होंने कहा कि इससे पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क संग्रह 2020-21 (अप्रैल 2020 से मार्च 2021) में 3.35 लाख करोड़ रुपये हो गया, जो एक साल पहले ₹ 1.78 लाख करोड़ था।