Newsnowदेशमुरैना जहरीली शराब (poisonous Liquor) कांड में अब तक 24 की मौत,...

मुरैना जहरीली शराब (poisonous Liquor) कांड में अब तक 24 की मौत, एसआईटी करेगी जाँच।

जहरीली शराब (poisonous Liquor) कांड में राज्य सरकार ने सख्त कार्रवाई करते हुए मुरैना के कलेक्टर व एसपी को हटाने के साथ ही बागचीनी थाने के सारे स्टाफ को लाइन अटैच कर दिया।

मध्य प्रदेश के मुरैना में जहरीली शराब (poisonous Liquor) पीने से हुई मौतों की संख्या लगातार बढ़ रही है। यहां हो रही मौतों का सिलसिला सोमवार (11 जनवरी) को शुरू हुआ था। अब तक 24 लोग जान गंवा बैठे हैं। राज्य सरकार ने सख्त कार्रवाई करते हुए मुरैना के कलेक्टर व एसपी को हटाने के साथ ही बागचीनी थाने के सारे स्टाफ को लाइन अटैच कर दिया। राज्य सरकार ने मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है।

मामले की गंभीरता को समझते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को दिल्ली दौरा रद्द कर दिया था। उन्होंने तुरंत ही अफसरों की एक बैठक बुलाई। इसमें गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, वाणिज्यिक कर मंत्री जगदीश देवड़ा व संभाग के अफसर शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने जहरीली शराब (poisonous Liquor) के गोरखधंधे को लेकर सभी अफसरों से कई सवाल किए और जवाब न मिलने पर जमकर उनकी फटकार लगाई। 

लव जिहाद के खिलाफ प्रस्तावित कानून को कैबिनेट की मंजूरी, दोषियों को 10 साल तक की जेल।

चौहान ने जब मुरैना के कलेक्टर अनुराग वर्मा और एसपी अनुराग सुजानियां से शराब कांड (poisonous Liquor) के बारे में पूछताछ की तो उनके पास कोई जवाब नहीं था। उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा, ‘दिखवाते हैं।’ इस बात पर नाराज हुए सीएम ने दोनों अफसरों को तत्काल प्रभाव से हटाने के आदेश दे दिए। शिवराज सरकार ने वर्मा को उनके पद से हटाने के बाद अस्थायी रूप से अगले आदेश तक के लिए मंत्रालय में उप सचिव बनाया है। सुजानियां को पीएचक्यू में भेज दिया गया। वहीं, एसडीओपी सुजीत भदौरिया को सस्पेंड कर दिया। इसके अलावा बागचीनी थाने के पूरा स्टाफ लाइन अटैच है।  

इतना ही नहीं शिवराज सरकार ने घटना की जांच के लिए एसआईटी (SIT) का गठन भी किया है। एसआईटी की इस टीम में अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा, एडीजी ए. सांई मनोहर और डीआईजी मिथिलेश शुक्ला शामिल होंगे। ये टीम गुरुवार यानी आज से जांच शुरू करेगी। साथ ही भोपाल में सेनानी 25वीं वाहिनी विसबल के सुनील कुमार पांडे को एसपी पदस्थ किया गया है। 

इस बीच, घटना की जांच के लिए गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव (एसीएस) राजेश राजौरा के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम जिले के मानपुर गांव पहुंच गई है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पुलिस उपमंडल अधिकारी (एसडीओपी) सुजीत भदरा को भी राज्य सरकार ने इस मामले में निलंबित कर दिया है। वहीं इस घटना के बाद सरकार ने बी कार्तिकेयन को मुरैना जिले का कलेक्टर तथा सुनील कुमार पांडे को एसपी नियुक्त किया है।

उधर, चंबल रेंज के डीआईजी राजेश हिंगणकर ने बृहस्पतिवार को बताया कि जहरीली शराब (poisonous Liquor) मामले में चार और व्यक्तियों के दम तोड़ देने के बाद इसमें मरने वालों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा इस मामले में 15 बीमार लोगों का उपचार अब ग्वालियर और मुरैना के सरकारी अस्पतालों में चल रहा है।