शनिवार, अक्टूबर 23, 2021
Newsnowप्रमुख ख़बरेंPM Modi की रैली से पहले BJP में शामिल हुए अभिनेता Mithun Chakraborty

PM Modi की रैली से पहले BJP में शामिल हुए अभिनेता Mithun Chakraborty

अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) ने राज्य बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष, राज्य के पार्टी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय की मौजूदगी में बीजेपी का दामन थामा.

Kolkata: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की कोलकाता में चुनावी रैली के मंच पर 70 वर्षीय अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) ने आज बीजेपी (BJP) ज्वाइन कर ली. इस बात की अटकलें लगाई जा रही थीं कि वो इस रैली में शामिल होंगे और बीजेपी की सदस्यता लेंगे. पीएम मोदी (PM Modi) की यह रैली कोलकाता के ऐतिहासिक ब्रिगेड परेड ग्राउंड में हो रही है. पीएम (PM Modi) के पहुंचने से पहले ही मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) को बीजेपी (BJP) में शामिल कराया गया. उन्होंने राज्य बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष, राज्य के पार्टी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय की मौजूदगी में बीजेपी का दामन थामा.

Dinesh Trivedi हुए बीजेपी में शामिल, TMC का आरोप- पार्टी के साथ विश्वासघात।

मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty)काला चश्मा और काली टोपी पहने मंच पर पहुंचे तो बीजेपी कार्यकर्ताओं में जोश आ गया. उन्हें मंच पर कैलाश विजयवर्गीय के बगल में बैठाया गया. बाद में उन्हें पार्टी में शामिल कराने की औपचारिकता पूरी की गई. बीजेपी नेताओं ने चक्रवर्ती को पार्टी का अंगवस्त्र पहनाकर उनका पार्टी में स्वागत किया. इसके बाद 70 वर्षीय अभिनेता ने मंच पर ही पार्टी का झंडा हाथों में लेकर लहराया.

West Bengal: चुनावी ऐलान के अगले दिन ही सीनियर पुलिस अफसर को हटाया गया।

एक दिन पहले ही यानी शनिवार को बंगाल बीजेपी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने बेलगाचिया इलाके में स्थित मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) के मकान पर जाकर उनसे मुलाकात की थी. आधी रात खुद विजयवर्गीय ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी. विजयवर्गीय ने लिखा, “अभी देर रात कोलकाता के बेलगाचिया में सिनेमा जगत के मशहूर अभिनेता मिथुन दाँ के साथ लम्बी चर्चा हुई. उनकी राष्ट्र भक्ति और ग़रीबों के प्रति प्रेम की कहानियाँ सुनकर मन गद-गद हो गया.”

राज्य में विधान सभा चुनावों के ऐलान के बाद यह पीएम मोदी (PM Modi) की पहली रैली है. वैसे पीएम तीन बार पहले भी चुनावी सभाएं कर चुके हैं लेकिन आज की कोलकाता रैली को लेकर सियासी चर्चाएं तेज हैं