शनिवार, दिसम्बर 4, 2021
Newsnowप्रमुख ख़बरेंEuropean Union, जर्मनी, भारत के Covid-19 संकट में मदद करने के लिए...

European Union, जर्मनी, भारत के Covid-19 संकट में मदद करने के लिए तैयार

European Union, इज़राइल और जर्मनी (Israel and Germany) ने आज भारत को तबाह कर रहे Covid-19 संक्रमण की दूसरी लहर से लड़ने के लिए सहायता का वादा किया

यूरोपीय संघ (European Union), इज़राइल और जर्मनी (Israel and Germany) ने आज भारत को तबाह कर रहे Covid-19 संक्रमण की दूसरी लहर से लड़ने के लिए सहायता का वादा किया जहाँ आज भारत की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली गोते खा रही है। मार्च की शुरुआत में कोविद संक्रमण बढ़ोतरी शुरू होने के बाद से यूरोप, भारत में उछाल ले रहे Covid-19 संक्रमण का विश्लेषण कर रहा है। मदद का आश्वासन आज दोपहर आया, क्योंकि रोज़ाना Covid-19 की संख्या लगभग 3.5 लाख तक बढ़ रही थी ग़ौरतलब है की 3 लाख से अधिक ताजा संक्रमणों का आज लगातार चौथा दिन।

3.14 लाख Covid-19 मामले और 2,104 मौतों के साथ, भारत ने विश्व का सबसे बड़ा दैनिक स्पाइक रिकॉर्ड बनाया

भारत द्वारा सहायता के लिए अनुरोध करने पर, हमने EU (European Union) नागरिक सुरक्षा तंत्र को सक्रिय कर दिया है। यूरोपीय संघ IN के लोगों का समर्थन करने के लिए सहायता जुटाने का भरसक प्रयास करेगा। हमारा ERCC पहले से ही EU MS का समन्वय कर रहा है जो तत्काल तेजी से ऑक्सीजन और मेडिसिन उपलब्ध कराने के लिए तैयार हैं। “ट्वीट जेनिस लेनारिक, यूरोपीय कमिश्नर फॉर क्राइसिस मैनेजमेंट।

यूरोपीय संघ के आयोग के अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन से भी पुष्टि हुई।

“भारत में महामारी की स्थिति से चिंतित। हम समर्थन करने के लिए तैयार हैं। यूरोपीय संघ के नागरिक सुरक्षा तंत्र के माध्यम से सहायता के लिए भारत के अनुरोध का तेजी से जवाब देने के लिए यूरोपीय संघ संसाधनों को जमा कर रहा है। हम भारतीय लोगों के साथ पूरी एकजुटता के साथ खड़े हैं!” 

हालांकि इज़राइल की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक संदेश नहीं आया है, लेकिन इज़राइली पब्लिक ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन के अमीचाई स्टीन ने अधिकारियों के हवाले से मदद के विस्तार के इज़राइल के फैसले पर ट्वीट किया।

“भारत में Covid-19 स्थिति के बाद: इजरायल (Israel) भारत को चिकित्सा सहायता भेजने पर विचार कर रहा है, अधिकारी मुझे बताते हैं,” उनका ट्वीट पढ़ा।

जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने भी कहा कि उनकी सरकार भारत के लिए आपातकालीन सहायता तैयार कर रही है। मार्केल ने अपने प्रवक्ता स्टीफेन साइबेरट द्वारा ट्विटर पर साझा किए गए संदेश में कहा, “भारत के लोगों के लिए मैं Covid-19 द्वारा उनके समुदायों पर फिर से आइ हुई भयानक पीड़ा पर सहानुभूति व्यक्त करना चाहती हूं।”

हालांकि जर्मनी (Germany) क्या सहायता प्रदान करेगा, इस बारे में तत्काल विवरण नहीं थे, डेर स्पीगल साप्ताहिक ने अनाम स्रोतों का हवाला देते हुए बताया है कि जर्मनी के सशस्त्र बलों को ऑक्सीजन की आपूर्ति को व्यवस्थित करने में मदद करने का अनुरोध मिला है।

शुक्रवार को फ्रांस ने कहा था कि वह इस संकट में भारत द्के साथ खड़ा है। फ्रांसीसी राजदूत इमैनुएल लेनैन ने कहा, “मैं COVID-19 मामलों के पुनरुत्थान का सामना कर रहे भारतीय लोगों को एकजुटता का संदेश देना चाहता हूं। फ्रांस इस संघर्ष में आपके साथ है, हम अपना समर्थन देने के लिए तैयार हैं।” फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन ने संदेश को ट्वीट किया।

Delhi News: दिल्ली के अस्पतालों ने कहा oxygen सिर्फ 8-10 घंटों के लिए

भारत में अस्पताल बेड और दवाइयों की कमी आने से संघर्ष कर रहे हैं, लेकिन राज्य दर राज्य की रिपोर्ट बताती है की ऑक्सीजन की सबसे अधिक आवश्यकता है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delh), सबसे बुरी तरह से प्रभावित रही है, जो सप्ताह की शुरुआत के बाद से आवर्ती संकट से जूझ रही है।