NewsnowदेशFarm laws: किसान नेता बोले, 'सरकार का प्रस्ताव मंज़ूर नहीं कानून रद्द...

Farm laws: किसान नेता बोले, ‘सरकार का प्रस्ताव मंज़ूर नहीं कानून रद्द करने की मांग करेंगे’

किसान नेताओं ने कहा हम मांग करेंगे कि तीनों कानूनों (Farm Laws) को रद्द किया जाए और न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (MSP) की लीगल गारंटी के लिए नया कानून सरकार बनाए.

New Delhi: कृषि कानूनों (Farm laws) को लेकर केंद्र सरकार और किसानों के बीच का गतिरोध खत्‍म होने का नाम नहीं ले रहा है. किसान इन तीनों कानूनों (Farm Laws) को रद्द करने की अपनी मांग पर अडिग हैं और उन्‍होंने सरकार की ओर से रखे गए प्रस्‍ताव को अपनी ठुकरा दिया है. सरकार की ओर से बुधवार को कृषि कानूनों (Farm Laws) को डेढ़ साल के लिए रोकने का प्रस्‍ताव किसानों के समक्ष रखा गया था लेकिन किसानों ने इसे अस्‍वीकार कर दिया है. दोनों पक्षों के बीच आज 11वें दौर की बैठक हो रही है. 

किसान बोले, हर हाल में दिल्ली की आउटर रिंग रोड पर Tractor Rally निकालेंगे

किसान नेताओं ने कहा, ‘आज की बैठक में हम सरकार के सामने औपचारिक तौर पर कृषि मंत्री के प्रस्ताव को खारिज करने के अपने फैसले से अवगत कराएंगे. हम मांग करेंगे कि तीनों कानूनों (Farm Laws) को रद्द किया जाए और न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (MSP) की लीगल गारंटी के लिए सरकार नया कानून बनाए. वहीं किसानों के पक्ष में खड़े जिन नेताओं, कार्यकर्ताओं और संगठनों को एनआईए (NIA) की नोटिस दी गई है उसकी जानकारी भी किसान संगठनों की तरफ से सरकार के सामने रखी जाएगी. 

टिकैत ने दी सरकार को धमकी, Tractor Rally निकालेंगे, किसमें हिम्मत है जो हमें रोके

किसान नेता ने कहा कि 26 जनवरी को हम दिल्ली के रिंग रोड के साथ-साथ उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) निकालेंगे. पूरे यूपी में विरोध प्रदर्शन होंगे. उन्‍होंने कहा कि जब तक भारत सरकार तीनों कानून (Farm Laws) रद्द नहीं करती, चाहे 6 महीना लगे या एक साल, हमारा विरोध जारी रहेगा. यह आर-पार की लड़ाई है. हम कृषि मंत्री से यह भी मांग करेंगे कि 26 जनवरी को किसानों को शांतिपूर्वक ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) निकालने के लिए हमें रूट मुहैया कराई जाए.