शनिवार, दिसम्बर 4, 2021
NewsnowदेशFarmers Protest: प्रधानमंत्री ने जान गंवाने वाले किसानों के बारे में कुछ...

Farmers Protest: प्रधानमंत्री ने जान गंवाने वाले किसानों के बारे में कुछ नहीं कहा, ये दुर्भाग्यपूर्ण- हरसिमरत कौर बादल

लोकसभा में पीएम मोदी के भाषण पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए शिरोमणी अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि किसान आंदोलन (Farmers Protest) में प्रधानमंत्री ने जान गंवाने वाले किसानों के बारे में कुछ नहीं कहा, ये दुर्भाग्यपूर्ण

New Delhi: पूर्व केंद्रीय मंत्री और शिरोमणी अकाली दल (SAD) की सांसद हरसिमरत कौर बादल (Harsimrat Kaur Badal) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) के भाषण पर अपनी प्रतिक्रिया दी. बादल ने कहा कि ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि उन्होंने उन 150 लोगों के बारे में कुछ नहीं कहा जिन्होंने किसान आंदोलन (Farmers Protest) के दौरान अपनी जान गंवा दी. कौन सा विपक्षी दल किसानों के बीच बैठा है. किसानों ने साफ बोला है कि राजनीतिक दल हमारे आंदोलन (Farmers Protest) में नहीं आएंगे. नाम बताए कौन सा नेता वहां पर 75 दिनों से बैठा है.

Farmers Protest: टिकरी बॉर्डर पर एक और किसान ने आत्महत्या की, सुसाइड नोट भी मिला

हरसिमरत कौर बादल ने कहा, “ये समय कि मांग है कि किसानों की बात सुनी जाए. प्रधानमंत्री ने कहा कि पंजाब में मंत्रियों ने जाकर किसानों से बात की. काश, वह बताते कि किस किसान से बात की थी क्योंकि जहां तक मुझे याद है, एक ही मंत्री पंजाब गया जिसने किसानों को गुंडा कहा था.”

PM Modi ने विपक्ष पर नकारात्मक राजनीति और खेल बिगाड़ने का लगाया आरोप

लोकसभा में बुधवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर जवाब देते हुए पीएम मोदी (PM Modi) ने किसान आंदोलन (Farmers Protest) और कृषि कानूनों (Farm Laws) को जिक्र किया. उन्होंने कहा कि किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) पवित्र है. लेकिन कुछ आंदोलनजीवियों ने उसे बर्बाद करने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि आंदोलनकारियों और आंदोलनजीवियों में फर्क समझने की जरूरत है.

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि ये कानून (Farm Laws) किसी के लिए बंधन नहीं है बल्कि एक विकल्प (Option) है. इसलिए विरोध की कोई वजह नहीं है. पीएम मोदी ने कहा, ‘‘पहली बार इस सदन में ये नया तर्क आया कि ये हमने मांगा तो दिया क्यों? आपने लेना नहीं हो तो किसी पर कोई दबाव नहीं है.’’

PM Modi: MSP खत्म हो जाने की बात झूठ, विपक्ष बहा रहा झूठे आंसू।

किसान आंदोलन (Farmers Protest)  पर उन्होंने कहा कि दिल्ली के बाहर जो हमारे किसान भाई-बहन बैठे हैं वो गलत धारणाओं और अफवाह का शिकार हो गए. उन्होंने कहा कि ये सदन और ये सरकार सभी किसान साथियों की भावनाओं का आदर करती है और करती रहेगी. लगातार बातचीत होती रही है. बातचीत में किसानों की शंकाओं को ढ़ूढ़ने का भी प्रयास किया गया. किसानों के फायदे के लिए ये कानून (Farm Laws) बनाए गए हैं. कानून लागू होने के बाद न देश में कोई मंडी बंद हुई है, न एमएसपी (MSP) बंद हुआ है.