spot_img
NewsnowसेहतDigestion संबंधी समस्याओं को दूर रखने के लिए ग्रीष्मकालीन पेय पदार्थ

Digestion संबंधी समस्याओं को दूर रखने के लिए ग्रीष्मकालीन पेय पदार्थ

यदि आपको अपने पाचन तंत्र से संबंधित कठिनाइयाँ हैं, तो हमने पाँच पेय पदार्थों की एक सूची तैयार की है जो गर्मी के मौसम में पाचन संबंधी समस्याओं को रोकने में मदद कर सकते हैं।

हमारा Digestion हमारे समग्र कल्याण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह न केवल भोजन को पोषक तत्वों में तोड़ने में मदद करता है, बल्कि हानिकारक बैक्टीरिया को भी नियंत्रित रखता है। स्वस्थ आंत नहीं होने के कारण पाचन संबंधी कई समस्याएं हो सकती हैं जैसे सूजन, गैस और पेट खराब होना।

यह भी पढ़ें: Digestion शक्ति बढ़ाने के 5 घरेलू उपाय

ऐसे मुद्दों को रोकने के लिए, विशेषज्ञ हमारे आहार में सही प्रकार के भोजन और पेय पदार्थों को शामिल करने की सलाह देते हैं। चूंकि गर्मी का मौसम जोरों पर है, हम निर्जलीकरण, तापमान में वृद्धि और आहार संबंधी आदतों में बदलाव के कारण पाचन संबंधी समस्याओं से ग्रस्त हैं। यदि आप पाचन संबंधी समस्याओं से जूझ रहे हैं, तो यहां हमने पांच गर्मियों के पेय की एक सूची तैयार की है जो गर्मी के मौसम में पाचन संबंधी समस्याओं को दूर रखने में मदद कर सकते हैं।

एक अस्वास्थ्यकर आंत के कारण क्या हैं?

Summer Drinks for Digestion
Digestion संबंधी समस्याओं को दूर रखने के लिए ग्रीष्मकालीन पेय पदार्थ

हमारा आंत स्वास्थ्य बहुत हद तक हमारे आहार और जीवन शैली के साथ किए गए विकल्पों पर निर्भर करता है। प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ और चीनी से भरपूर आहार हमारे पाचन तंत्र के लिए हानिकारक हो सकता है। इसके अलावा, नींद की कमी, शराब का सेवन, और शारीरिक रूप से सक्रिय न होना, ये सभी एक अस्वास्थ्यकर आंत का कारण बन सकते हैं। इसलिए, स्वस्थ Digestion को बनाए रखने के लिए हम क्या खाते हैं और कैसे रहते हैं, इस पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है।

Digestion के लिए ग्रीष्मकालीन पेय पदार्थ

एक अस्वास्थ्यकर आंत होने से सूजन, दस्त, गैस और पेट दर्द सहित कई असुविधाजनक लक्षण हो सकते हैं। अन्य लक्षणों में कम ऊर्जा, थकान और त्वचा की समस्याएं शामिल हैं। कई अध्ययनों से पता चलता है कि इससे अवसाद और चिंता जैसे मूड में गड़बड़ी भी हो सकती है।

छाछ

Summer Drinks for Digestion
Digestion संबंधी समस्याओं को दूर रखने के लिए ग्रीष्मकालीन पेय पदार्थ

भारत में, पारंपरिक रूप से छाछ का उपयोग पाचन सहायता के रूप में किया जाता रहा है। छाछ में मौजूद प्रोबायोटिक्स भोजन को तोड़ने, सूजन को कम करने और समग्र पाचन में सुधार करने में मदद करते हैं। चूंकि छाछ में लैक्टिक एसिड भी होता है, यह पाचन तंत्र की परत को आराम देने में काफी प्रभावी होता है। यहां बताया गया है कि आप घर पर कैसे अपने लिए स्वादिष्ट छाछ बना सकते हैं।

नारियल पानी

Summer Drinks for Digestion
Digestion संबंधी समस्याओं को दूर रखने के लिए ग्रीष्मकालीन पेय पदार्थ

Digestion संबंधी समस्याओं को रोकने के लिए नारियल पानी एक और बेहतरीन पेय है क्योंकि इसमें प्राकृतिक एंजाइम होते हैं जो पाचन में सहायता करते हैं। इसके अतिरिक्त, इसकी उच्च पोटेशियम सामग्री पाचन को विनियमित करने और भोजन के बाद सूजन को रोकने में मदद करती है। गर्मियों के दौरान नारियल पानी का नियमित सेवन भी शरीर में इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखने में मदद कर सकता है।

आम पन्ना

Summer Drinks for Digestion
Digestion संबंधी समस्याओं को दूर रखने के लिए ग्रीष्मकालीन पेय पदार्थ

हम सभी गर्मियों के दौरान आम पन्ना पीना पसंद करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह पाचन संबंधी समस्याओं को दूर रखने में भी मदद कर सकता है? इसमें मौजूद विटामिन बी आंतों की सफाई में मदद करता है और पेट से संबंधित समस्याओं से बचाता है। अगर इसका नियमित रूप से सेवन किया जाए तो यह दस्त जैसी स्थितियों को भी रोक सकता है।

सत्तू शरबत

Summer Drinks for Digestion
Digestion संबंधी समस्याओं को दूर रखने के लिए ग्रीष्मकालीन पेय पदार्थ

सत्तू पारंपरिक रूप से आयुर्वेद में पाचन को बढ़ावा देने के लिए उपयोग किया जाता रहा है। यह फाइबर से भरपूर होता है, जो मल त्याग को नियंत्रित करने में सहायता करता है और स्वस्थ आंत बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देता है। इसके अतिरिक्त, इसके शीतलन गुणों के कारण, सत्तू सूजन को कम करने और Digestion को शांत करने में मदद करता है।

यह भी पढ़ें: Body Pain के 7 घरेलू नुस्खे, जिन्हें आपको अवश्य आजमाना चाहिए

बेल का रस

Summer Drinks for Digestion
Digestion संबंधी समस्याओं को दूर रखने के लिए ग्रीष्मकालीन पेय पदार्थ

जब Digestion संबंधी समस्याओं को रोकने की बात आती है तो बेल को सबसे अच्छे फलों में से एक माना जाता है। इसमें समृद्ध एंटीफंगल और जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो गैस्ट्रिक अल्सर को प्रभावी ढंग से नियंत्रित करते हैं। बेल के रस में रेचक गुण भी होते हैं जो मल त्याग को नियंत्रित करने और कब्ज को रोकने में मदद करते हैं।