मंगलवार, अक्टूबर 26, 2021
Newsnowक्राइमMumbai में ATM Card Cloning के आरोप में दो रोमानियाई नागरिक गिरफ्तार

Mumbai में ATM Card Cloning के आरोप में दो रोमानियाई नागरिक गिरफ्तार

Mumbai Police ने इनके कब्जे से क्लोन किए गए ATM Card, माइक्रो कैमरा और क्लोनिंग मशीन बरामद की है।

मुंबई (महाराष्ट्र): Mumbai Police के साइबर सेल ने दो रोमानियाई नागरिकों को कथित तौर पर ATM Card Cloning और पीड़ितों के बैंक खातों से पैसे निकालने के आरोप में गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

Mumbai Police ने इनके कब्जे से क्लोन किए गए एटीएम कार्ड, माइक्रो कैमरा और क्लोनिंग मशीन बरामद की है। आरोपी क्लोनिंग मशीन में माइक्रो कैमरा और मैग्नेटिक चिप लगाकर एटीएम मशीन में लगा देता था।

आरोपियों की पहचान मियू रुचिनाल और बुडाई रोमाना के रूप में हुई है।

Mumbai Police के साइबर सेल के पुलिस निरीक्षक मंगेश देसाई ने कहा कि छह महीने पहले, एक महिला ने पुलिस से संपर्क किया और शिकायत की कि एटीएम मशीन से उसके खाते से 6.05 लाख रुपये निकाले गए। उन्होंने कहा, “पिछले छह महीने से हम आरोपी को गिरफ्तार करने की कोशिश कर रहे थे। जब हमने आरोपी को गिरफ्तार किया तो हमें एटीएम मशीन में माइक्रो कैमरा और मैग्नेटिक चिप मिली।”

Drugs मामले में Colombian national को मुंबई में 10 साल जेल की सजा

Mumbai Police ने बताया, “हमने एटीएम सेंटर के सीसीटीवी फुटेज को स्कैन किया और आरोपी को एटीएम मशीन में माइक्रो कैमरा और मैग्नेटिक चिप लगाते हुए देखा। बाद में, हमने आरोपी को एटीएम के बाहर लाल रंग की कार में बैठे देखा। हमने नंबर प्लेट के माध्यम से वाहन को ट्रैक किया और उसे लोखंडवाला इलाके में खड़ा पाया।

48 घंटे बाद आरोपी बाहर निकला। हमने कार का पीछा किया और देखा कि यह मलाड में एक एटीएम केंद्र के बाहर खड़ी थी,” मंगेश देसाई ने कहा।

उन्होंने कहा, “हमने क्लोनिंग डिवाइस लगाते समय आरोपी मियू रुचिनल को रंगे हाथों पकड़ा। हमें उसकी जेब में कई एटीएम कार्ड, माइक्रो कैमरा और मैग्नेटिक चिप भी मिली। आरोपी ने अपना अपराध कबूल कर लिया”।

बाद में, हमने उसके ठिकाने पर छापा मारा और एक अन्य आरोपी बुदई एलिन रोमाना को गिरफ्तार किया। हमने ATM Card Cloning में इस्तेमाल किए गए सभी सामान, एक लैपटॉप, पांच मोबाइल फोन और 70 हजार नकद भी बरामद किए।

Antilia Bomb मामले में पूर्व सिपाही को 12 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया

Mumbai साइबर पुलिस की आगे की पूछताछ में पता चला कि आरोपी पिछले चार साल से लोखनवाला इलाके में रह रहे थे।

आगे की जांच की जा रही है।