सोमवार, अक्टूबर 25, 2021
Newsnowसंस्कृतिMaa Laxmi का आर्शीवाद पाना चाहता है, रखें कुछ बातों का ध्यान,...

Maa Laxmi का आर्शीवाद पाना चाहता है, रखें कुछ बातों का ध्यान, नहीं होगी धन का कमी।

हर व्यक्ति मां लक्ष्मी (Maa Laxmi) का आर्शीवाद पाना चाहता है. क्योंकि धन ही एक मात्र ऐसा साधन है जिसके दम पर सुख सुविधाओं की इमारत खड़ी होती है.

जीवन में धन की क्या अहमियत है, इसे बताने की जरूरत नहीं है. इसीलिए हर व्यक्ति मां लक्ष्मी (Maa Laxmi) का आर्शीवाद पाना चाहता है. क्योंकि धन ही एक मात्र ऐसा साधन है जिसके दम पर सुख सुविधाओं की इमारत खड़ी होती है. हर व्यक्ति चाहता है कि वह धनवान बनें. लेकिन यह इच्छा हर किसी की पूर्ण नहीं होती है. करोड़पति बनने की इच्छा उन्ही लोगों की पूर्ण होती है जिन पर लक्ष्मी जी (Maa Laxmi) की विशेष कृपा होती है.

गीता में भी भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है कि कलयुग में जिस व्यक्ति के पास जितना धन होगा, वह उतना गुणी कहलाएगा. इसलिए आज के युग में धन का विशेष महत्व है. लेकिन इतना ध्यान रखना होगा कि लक्ष्मी जी (Maa Laxmi) उसी पर शोभा देती हैं जिसे मां सरस्वती (Maa Saraswati) का भी आर्शीवाद प्राप्त हो. इसलिए लक्ष्मी जी (Maa Laxmi) के साथ साथ मां सरस्वती (Maa Saraswati) का भी आर्शीवाद लेना चाहिए

घर में सुख-शांति और समृधि बनाए रखने के लिए शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी (Maa Laxmi) की पूजा की जाती है. ऐसी मान्यता है कि घर में मां लक्ष्मी की विधिवत पूजा करने से मां लक्ष्मी (Maa Laxmi) प्रसन्न होती है और जातक के घरों में धन की वर्षा करती है. इससे घर में धन की कभी कमी नहीं होती है. हालांकि कभी –कभी घर में बहुत पूजा-अर्चना करने के बाद भी घर में बरकत नहीं होती है. अगर आप भी चाहते हैं कि मां लक्ष्मी की कृपा से आपके घर में आर्थिक परेशानी कभी न हो तो शुक्रवार को इस विधि से मां लक्ष्मी (Maa Laxmi) की पूजा करें.

इस पूजन विधि से करें मां लक्ष्मी की पूजा तो होगी घर में बरकत

wants to get the blessings of Maa Laxmi take care of some things there will be no shortage of funds
घर में सुख-शांति और समृधि बनाए रखने के लिए शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी (Maa Laxmi) की पूजा की जाती है.

अगर आपके हाथों में पैसा नहीं रुकता है बहुत अधिक खर्च होता है तो आप पूजा स्थल पर मां लक्ष्मी (Maa Laxmi) की ऐसी तस्वीर लगाएं जिसमें मां लक्ष्मी खड़ी हों और उनके हाथों से धन गिर रहा हो. मां की तस्वीर के सामने घी का दीपक जरूर जलाएं. मां लक्ष्मी को इत्र चढ़ाएं. उसी इत्र का नियमित उपयोग करें.

अगर आपके हाथों से बेवजह धन खर्च हो रहा है. तो मां के चरणों में प्रतिदिन 1 रूपये का सिक्का अर्पित करें और महीने के अंत में इसे इकट्ठा करके किसी सौभाग्यशाली स्त्री को दान करें.

अगर आपको अक्सर धन की परेशानियों का सामना करना पड़ता है तो आप निम्नलिखित गलतियों में सुधार करें.

1. जिन घरों में पूजा का दीपक फूंक मारकर बुझाया जाता है उस घरों में मां लक्ष्मी नहीं रूकती हैं.

2. टूटी हुई कंघी से बाल संवारना घर में धन के लिए अपशगुन माना जाता है.

3. यदि आप रात में बिना पैर धोये या गीले पैर ही सो जाते हैं तो यह धन के लिए अपशगुन है. ऐसा कतई न करे.

4. अगर आपके घर में रात के जूठे बर्तनों का ढेर लगा रहता है और उसे सुबह साफ़ किया जाता है तो ऐसे घर में लक्ष्मी नहीं ठहरती है. इस आदत में सुधर करें.

5. अगर आपको नाखून चबाने या दांतों से काटने की आदत है तो यह भी धन के लिए अच्छा नहीं है. ऐसी आदत को बदलें.

6. जिन घरों में सूर्यास्त के बाद झाड़ू लगाया जाता है वहां लक्ष्मी नहीं ठहरती है.

7. जिन घरों में नियमित शंखनाद नहीं होता है और देवी देवताओं को गाली दी जाती है. वहां भी लक्ष्मी का वास नहीं होता है.

8. जिन घरों में पितृपक्ष में पितरों का श्राद्ध नहीं किया जाता है वहां लक्ष्मी नहीं रुकती.

इन बातों को विशेष रूप से याद रखना चाहिए

धन का प्रयोग अच्छे कार्यों के लिए करें


धन की देवी लक्ष्मी (Maa Laxmi) उसी को अपना आर्शीवाद प्रदान करती हैं जो धन का प्रयोग मानव कल्याण के लिए करता है. लक्ष्मी जी उस व्यक्ति का साथ बहुत जल्दी छोड़ देती हैं जो धन का प्रयोग दूसरों को नुकसान पहुचाने के लिए करते हैं.

अहंकारी मनुष्य को लक्ष्मी जी पसंद नहीं करती हैं


लक्ष्मी जी अहंकारी व्यक्ति को पसंद नहीं करती हैं. रावण ज्ञानी और शक्तिशाली था, लेकिन अहंकारी था. इसलिए रावण की सोने की लंका भी नष्ट हो गई. समझदार व्यक्ति को अहंकार से दूर रहना चाहिए.

नकारात्मक विचारों से दूर रहें


लक्ष्मी जी (Maa Laxmi) का आर्शीवाद उस व्यक्ति को अवश्य मिलता है जिसके विचार शुद्ध और सकारात्मक होते हैं. उस व्यक्ति से लक्ष्मी जी दूरी बना लेती हैं जिसके विचार नकारात्मक होते हैं.