शनिवार, अक्टूबर 23, 2021
NewsnowविदेशCoronavirus: जर्मनी में लगाया गया 16 दिसंबर से 10 जनवरी के बीच...

Coronavirus: जर्मनी में लगाया गया 16 दिसंबर से 10 जनवरी के बीच अब तक का सबसे सख्त लॉकडाउन

कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण के नए मामलों की संख्या में कमी लाने के लिए दुकानों और स्कूलों को भी बंद किया गया है।

Germany(Berlin) : Coronavirus मरीजों की मौत के मामलों में वृद्धि के कारण जर्मनी में एक बार फिर सख्त लॉकडाउन लगाया गया है। यह लॉकडाउन 16 दिसंबर से 10 जनवरी के बीच होगा। इस दौरान जरूरी सामान के अलावा अन्य सभी दुकानें और मॉल बंद रहेंगे। Coronavirus संक्रमण के नए मामलों की संख्या में कमी लाने के लिए दुकानों और स्कूलों को भी बंद किया गया है।

Coronavirus से कई मरीजों की मौत हुई

देश के रोग नियंत्रण केंद्र ‘रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट’ के मुताबिक, जर्मनी में पिछले सात दिन में प्रति एक लाख निवासियों पर कोविड-19 के 179.8 मरीजों की मौत हुई जोकि पिछले सप्ताह से काफी अधिक है। 

इसके मुताबिक, इससे पिछले सप्ताह प्रति एक लाख निवासियों पर 149 मौतें हुई थीं। जर्मनी के 16 राज्यों में एक दिन में होने वाली मौतों की संख्या में भी वृद्धि दर्ज की गई जोकि 952 रही। यह पिछले शुक्रवार को हुई 598 से काफी अधिक रही। जर्मनी में अब तक इस घातक वायरस के कारण 23,427 लोगों की मौत हो चुकी है। 

यह भी पढ़ें: Research: अगर आप मास्‍क के बगैर सिर्फ फेस शील्‍ड (Face Shield) पहने हैं तो हो जाएं सावधान

अक्टूबर में Coronavirus संक्रमण के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर नवंबर की शुरुआत में जर्मनी में हल्का लॉकडाउन लगाया था, जिसके तहत बार और रेस्त्रां बंद रखे गए थे लेकिन दुकानों को खोलने की अनुमति थी। अब नए मामलों और मरीजों की मौत की संख्या में वृद्धि के चलते लॉकडाउन के तहत सख्त प्रतिबंध लागू किए गए हैं। 

क्रिसमस से पहले दुकानें और स्कूल बंद किए जाने के साथ ही निजी कार्यक्रम में एकत्र होने वाले लोगों की अधिकतम संख्या पांच तय की जा रही है। उधर, अर्थशास्त्रियों ने कहा कि जर्मनी के एक और सख्त लॉकडाउन के फैसले से यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में एक और मंदी का खतरा बढ़ गया है। 

चांसलर एंजेला मर्केल के एक शीर्ष सहयोगी ने सोमवार को कहा कि जर्मनी में अगले साल की शुरुआत में लॉकडाउन को खत्म होने की संभावना नहीं है। यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था जर्मनी को सर्दियों के महीनों में कई प्रकार के प्रतिबंधों से जूझना होगा।

उन्होंने कहा कि सांस संबंधी संक्रमण के मामले में जनवरी और फरवरी हमेशा मुश्किल महीने होते हैं। सख्त नियमों के तहत 16 दिसंबर से केवल आवश्यक दुकानें जैसे कि सुपरमार्केट, फार्मेसियों और बैंक खुले रहेंगे। सैलून, ब्यूटी पॉर्लर और टैटू पार्लरों को भी बंद करना होगा।