NewsnowविदेशCorona New Strain: फ्रांस में भी मिला कोरोना वायरस का नया स्‍ट्रेन

Corona New Strain: फ्रांस में भी मिला कोरोना वायरस का नया स्‍ट्रेन

ब्रिटेन के बाद अब एक और यूरोपीय देश फ्रांस में कोरोना वायरस का नया स्‍ट्रेन (Corona New Strain) सामने आया है। इस वायरस से संक्रमित व्‍यक्ति ब्र‍िटेन से लौटा था।

रांस (France) ने कहा है कि उनके देश में कोरोना वायरस का नया स्‍ट्रेन (Corona New Strain) या प्रकार मिला है। कोरोना के इस ज्‍यादा संक्रामक स्‍ट्रेन की पहचान ब्रिटेन (Britain) में की गई थी और दक्षिण अफ्रीका (South Africa), नाइजीरिया (Nigeria) से भी इसके मामले सामने आए हैं। फ्रांसीसी स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि कोरोना के नए स्‍ट्रेन (Corona New Strain) से पीड़‍ित व्‍यक्ति फ्रांस का नागरिक है और 19 दिसंबर को लंदन से आया था। उन्‍होंने कहा कि संक्रमित व्‍यक्ति अपने घर पर ही अलग-थलग रह रहा है।

ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया स्‍ट्रेन (Corona New Strain) मिलने के बाद भारत समेत दुनियाभर के कई देशों ने वहां से लोगों के आने पर प्रतिबंध लगा द‍िया था। फ्रांस ने भी ब्रिटेन से विमानों के आने पर प्रतिबंध लगा दिया था लेकिन बुधवार को यह प्रतिबंध हटा लिया गया। अब उन लोगों को आने दिया जा रहा है जो टेस्‍ट में न‍िगेटिव आ रहे हैं। क्रिसमस के दिन हजारों लॉरी ड्राइवरों को अपनी गाड़ी में ही रहना पड़ा जो इंग्लिश चैनल को पार करने के इंतजार में थे। 

नाइजीरिया में कोरोना वायरस का अलग स्ट्रेन पाया गया

फ्रांस के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा कि 21 दिसंबर को पीड़‍ित व्‍यक्ति की एक अस्‍पताल में जांच की गई। उन्‍होंने कहा कि पीड़‍ित व्‍यक्ति ठीक है। इससे पहले शुक्रवार को जापान, डेनमार्क, नीदरलैंड और ऑस्‍ट्रेलिया ने बताया कि उनके यहां भी कोरोना वायरस के नए स्‍ट्रेन (Corona New Strain) से संक्रम‍ित मरीजों के मामले सामने आए हैं। इससे पहले ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका के बाद अफ्रीकी देश नाइजीरिया में कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन पाया गया था। 

गुरुवार को अफ्रीका के शीर्ष सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि कोरोना का यह नया स्ट्रेन (Corona New Strain) नाइजीरिया के लोगों में पाया गया है। इस स्ट्रेन को लेकर अधिक जानकारी जुटाने के लिए वैज्ञानिकों की एक टीम जांच कर रही है। बुधवार को ही ब्रिटेन में दक्षिण अफ्रीका से आए दो यात्रियों में कोरोना का एक नया स्ट्रेन मिला था। इस नए स्ट्रेन को ब्रिटिश स्वास्थ्य मंत्री ने 70 फीसदी और संक्रामक बताया था।

ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका से अलग है यह स्ट्रेन

अफ्रीका सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के प्रमुख जॉन नेकेंगसॉन्ग ने नाइजीरिया के इस नए स्ट्रेन के बारे में कहा कि यह यूके और दक्षिण अफ्रीका से एक अलग प्रकृति का है। इस स्ट्रेन की जांच नाइजीरिया सीडीसी और अफ्रीकी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर जीनोमिक्स ऑफ इंफेक्शियस डिजीज के वैज्ञानिक कर रहे हैं। उन्होंने वायरस के इस प्रकृति की जांच के लिए और समय की मांग की।

नए स्ट्रेन को P681H वैरियंट दिया गया नाम

डॉ नेकेंगसॉन्ग ने बताया कि टीकों पर नाइजीरियाई वेरिएंट का संभावित प्रभाव अभी तक अस्पष्ट है। एक प्रारंभिक रिपोर्ट में कहा गया है कि 3 अगस्त और 9 अक्टूबर के बीच दक्षिणी ओसुन राज्य में लागोस के उत्तर में 100 मील की दूरी पर एकत्र किए गए दो रोगियों के नमूनों में कोरोना वायरस का यह नाइजीरियाई वैरियंट पाया गया था। कोरोना वायरस के इस वैरियंट को P681H नाम दिया गया है।