शुक्रवार, अक्टूबर 22, 2021
NewsnowसेहतKidney Stone की रोकथाम के लिए सर्वश्रेष्ठ खाद्य पदार्थ: कुछ उपाय

Kidney Stone की रोकथाम के लिए सर्वश्रेष्ठ खाद्य पदार्थ: कुछ उपाय

शरीर में पर्याप्त पानी की कमी से गुर्दे में पथरी (Kidney Stone) का निर्माण होता है क्योंकि पानी की अपर्याप्त आपूर्ति यूरिक एसिड को पतला करने में विफल हो जाती है।

अधिकांश लोगों के लिए Kidney Stone सबसे आम चिंताओं में से एक है। अस्वास्थ्यकर भोजन की आदतें और अपर्याप्त पानी का सेवन मूत्र पथ में पथरी बनने के प्रमुख कारण माने जाते हैं

गुर्दे की अंदरूनी परत में घुले हुए खनिजों के जमा होने से पत्थरों का निर्माण होता है जो क्रिस्टलीय संरचना के साथ छोटे से बड़े गोल्फ बॉल के आकार तक बढ़ सकते हैं।

शरीर में पर्याप्त पानी की कमी से गुर्दे में पथरी (Kidney Stone) का निर्माण होता है क्योंकि पानी की अपर्याप्त आपूर्ति यूरिक एसिड को पतला करने में विफल हो जाती है जिससे मूत्र अधिक अम्लीय हो जाता है जिससे धीरे-धीरे पथरी बन जाती है। इस विकार के सबसे आम लक्षण पेशाब के दौरान खून बहना और जलन, उल्टी, बुखार के साथ पेशाब में मवाद का बनना और कांपना है।

यह भी पढ़ें: पवित्र Tulsi के आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ

चिकित्सकों और शोधकर्ताओं ने एक स्वस्थ जीवन शैली को बनाए रखने का सुझाव दिया, जो एक पौष्टिक आहार योजना द्वारा समर्थित है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि नियमित रूप से कम से कम 8 – 10 गिलास पानी या स्वस्थ रस का सेवन Kidney Stone बनने के जोखिम को कम करता है। यदि आप पर्याप्त रूप से हाइड्रेटेड हैं तो यह आपके सिस्टम को पथरी बनने के लिए जिम्मेदार रसायनों को पतला करने में मदद करेगा।

पानी के अलावा, अपने आहार में शीर्ष 4 खाद्य पदार्थों को शामिल करना Kidney Stone की रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। 

1. साइट्रस सेवन में वृद्धि: प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले साइट्रिक एसिड का सबसे अच्छा स्रोत नींबू, संतरा और अंगूर हैं। साइट्रिक एसिड आपके गुर्दे में पत्थरों (Kidney Stone) के निर्माण के खिलाफ एक सुरक्षा कवच बनाता है। यह पथरी बनने के संभावित ब्लॉकों को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ने में मदद करता है जो पेशाब के जरिए बाहर निकल जाते हैं।

2. कैल्शियम शामिल करें: अपने आहार में अधिक कैल्शियम शामिल करके अपने ऑक्सालेट स्तर को कम करें। स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा हमेशा पूरक आहार के बजाय प्राकृतिक स्रोतों से कैल्शियम निकालने की सलाह दी जाती है। दूध, पनीर और दही कैल्शियम प्राप्त करने के प्रमुख स्रोत माने जाते हैं। इनके अलावा, हरी सब्जियां, मेवा, बीज और फलियां भी कैल्शियम के समृद्ध स्रोत हैं। 

3. विटामिन डी: विटामिन डी का सेवन बढ़ाना भी उतना ही जरूरी है, क्योंकि यह अधिक कैल्शियम के अवशोषण में मदद करता है। आपके आहार में कैल्शियम का स्तर जितना कम होगा, ऑक्सालेट के स्तर में उतनी ही वृद्धि होगी जो मुख्य रूप से पथरी बनने के लिए जिम्मेदार है।

यह भी पढ़ें: टमाटर या Tomato के छिपे हुए फायदे, जानें इसके बारे में।

4. पानी वाले फल और सब्जियां: हालांकि Kidney Stone बनने से रोकने के लिए पर्याप्त पानी और स्वस्थ तरल पदार्थ पीने की सलाह दी जाती है, लेकिन Kidney Stone से छुटकारा पाने के लिए चिकित्सकों द्वारा पानी वाले फलों और सब्जियों का सेवन करने की सलाह दी जाती है। तरबूज, रसभरी, संतरा, खीरा और अनानास जैसे पानी वाले फलों और सब्जियों को शामिल करने से शरीर को अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रखने में मदद मिलती है जिससे गुर्दे और मूत्र पथ में पथरी बनने की संभावना कम हो जाती है।

Kidney Stone का निर्माण कई कारकों पर निर्भर करता है, जिसमें वंशानुगत और चिकित्सा मामले भी शामिल हैं, यह भी साबित हुआ है कि एक व्यक्ति अपने जीवनकाल में कई बार गुर्दे की पथरी से पीड़ित हो सकता है और पुरुष पुरानी पथरी के सबसे ज्यादा पीड़ित होते हैं। इस जटिलता के लिए जिम्मेदार कारणों की रोकथाम थोड़ी कठिन प्रक्रिया है जिसके लिए थोड़े धैर्य और दृढ़ संकल्प की आवश्यकता होती है। घातक छलांग लगाने से पहले पथरी बनने के प्राथमिक लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

सरल उपाय:

Kidney Stone से बचने के लिए सबसे अच्छी चीजों में से एक है कि आप रोजाना खूब पानी पिएं। यह सुनिश्चित करने में मदद करेगा कि आप कैल्शियम या यूरिक एसिड के किसी भी निर्माण से बचने के लिए बार-बार पेशाब करते हैं।

अपने पसीने को कम मत समझो! सौना बाथ, योग और भारी व्यायाम आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छे लग सकते हैं, लेकिन ये भी Kidney Stone का कारण बन सकते हैं। क्यों? पसीने से पानी की कमी चाहे इन गतिविधियों के कारण हो या सिर्फ गर्मी के कारण मूत्र उत्पादन कम हो सकता है। जितना अधिक आप पसीना बहाएंगे, उतना ही कम आप पेशाब करेंगे, जिससे पथरी पैदा करने वाले खनिज गुर्दे और मूत्र पथ में जमा हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें: स्वास्थ्य लाभ से भरपूर Makhana, जानिए इसके औषधीय गुणों को

पानी से हाइड्रेट रहें। अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रहना सुनिश्चित करें, खासकर जब व्यायाम या शारीरिक गतिविधियाँ करते हैं जिससे बहुत अधिक पसीना आता है। अच्छी मात्रा में मूत्र उत्पन्न करने के लिए आपको प्रति दिन 8-12 कप पीना या तरल पदार्थ चाहिए। पानी की सही मात्रा के बारे में किसी स्वास्थ्य पेशेवर या अपने डॉक्टर से बात करें जो आपके लिए सबसे अच्छा है। सोडा (विशेष रूप से फ्रुक्टोज की उच्च मात्रा वाले), मीठी आइस्ड टी और अंगूर के रस से बचने की कोशिश करें।