सोमवार, अक्टूबर 25, 2021
NewsnowदेशUP में कोविड-19 के नियमों के पालन के साथ एक से पांचवीं...

UP में कोविड-19 के नियमों के पालन के साथ एक से पांचवीं तक के School खुले

यूपी सरकार और शासन के निर्देश पर कोविड-19 के नियमों के पालन के साथ School खोले गए हैं

वैश्विक महामारी कोरोना के प्रकोप के चलते सालभर से बंद प्राथमिक विद्यालयों (School) को आज यानी 1 मार्च से प्रदेश भर में खोल दिया गया है. यूपी सरकार और शासन के निर्देश पर कोविड-19 के नियमों के पालन के साथ स्‍कूल (School) को खोला गया है.

वहीं गोरखपुर जनपद के सभी 2700 स्‍कूलों को कोविड-19 नियमों के पालन के साथ खोलने के निर्देश पहले ही दे दिए गए थे। सोमवार को जब स्‍कूल (School) खुले, तो स्‍कूल आने वाले बच्‍चों का तिलक लगाने के बाद पुष्‍पवर्षा कर स्‍वागत किया गया. स्‍कूल खुले, तो इसके साथ शिक्षकों और बच्‍चों के चेहरे भी खिल गए.

मध्य प्रदेश- पराग दीवान ने गरीब बच्चों को IAS, IPS बनाने का उठाया बीड़ा, दे रहे मुफ़्त शिक्षा

गोरखपुर में पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया

गोरखपुर (Gorakhpur) के अलहदादपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय बनकटीचक पर सुबह से ही बच्‍चों का तिलक और पुष्‍प की थाल लिए प्रधानाध्‍यापिका मंजूरानी गुप्‍ता और सहायक अध्‍यापिका उर्मिला राय बच्‍चों का स्‍वागत कर रही हैं. इसी बीच गोरखपुर के बेसिक शिक्षा अधिकारी शिक्षिकाओं और कर्मचारियों के साथ बच्‍चों का उत्‍साहवर्धन करने के लिए सुबह 9 बजे स्कूल (School) पर पहुंच जाते हैं. वे बच्‍चों के ऊपर पुष्‍पवर्षा और तिलक लगाकर उनका स्‍वागत करते हैं. इस बीच बैंड की धुन भी सुनाई दे रही है. स्‍कूल (School) के शिक्षिकाओं और कर्मचारियों के साथ बच्‍चों के लिए भी ये सुखद पल है.

प्रयागराज में बच्चों को रंग-बिरंगे गुब्बारे दिये गये

प्रयागराज (Prayagraj) में भी आज करीब एक साल बाद पहली से पांचवी तक के स्कूल (School) एक बार फिर से खुल गए हैं. प्रयागराज में आज पहले दिन बड़ी संख्या में बच्चे स्कूल पहुंचे. स्कूलों ने भी खास अंदाज में बच्चों का स्वागत व अभिनंदन किया और उनकी हौसला आफजाई करते हुए कोरोना के प्रति उनके डर को खत्म करने की कोशिश की. 

Delhi Schools: दिल्ली सरकार ने 10वीं और 12वीं क्लास के बच्चों के लिए 18 जनवरी से स्कूल खोलने के आदेश जारी किये।

प्रयागराज में विद्या भारती द्वारा संचालित रानी रेवती देवी स्कूल में आज स्कूल (School) खुलने पर बेहद खास इंतजाम किए गए थे. यहां स्कूल में दाखिल होते ही बच्चों को रंग बिरंगे गुब्बारे दिए गए थे. इसके साथ ही महिला टीचर्स बच्चों के माथे पर तिलक लगाकर उनका स्वागत कर रही थी तो साथ ही आरती के जरिए खास अंदाज में उनका अभिनंदन किया जा रहा था. स्कूल के टीचर्स ने बच्चों के स्वागत में एक खास गीत भी तैयार किया हुआ था. सुबह बच्चों की इंट्री के वक्त टीचर्स ने स्टूडेंट के साथ ही यह गीत गाकर खास अंदाज में समा बांधा.

आगरा में खुले प्राइमरी स्कूल लेकिन एक भी टीचर नजर नहीं आया

वहीं, आगरा (Agra) में आज से एक से लेकर 5वीं तक के स्कूल (School) खोल दिए गए हैं. ऐसे में आज सुबह-सुबह बच्चे स्कूल पहुंचे लेकिन आगरा के नगला धनी उच्च प्राथमिक विद्यालय का अलग ही माहौल नजर आया. यहां बच्चे तो स्कूल पहुंच गए थे लेकिन स्कूल में एक भी टीचर नजर नहीं आया. Covid प्रोटोकॉल्स की धज्जियां उड़ती देखी तो वहीं, मौके पर साफ सफाई करती हुई और मिड डे मील बनाने वाली सहायिकाएं ज़रूर अपनी ड्यूटी को अंजाम देती हुई नज़र आईं. स्कूल से प्रिंसिपल, असिस्टेंट टीचर और दोनों शिक्षा मित्र गायब नज़र आए. प्राइमरी स्कूल खुलने पर आगरा के नगला धनी उच्च प्राथमिक विद्यालय का क्या है माहौल, कोरोना काल के बाद आज करीब एक वर्ष बाद प्राइमरी स्कूल में कक्षाएं शुरू हुईं. यहां, सुबह जब बच्चे स्कूल (School) पहुंचे तो उनका जोरदार स्वागत किया गया. टीचरों ने और उन्हें तिलक लगाकर क्लास में बैठाया. वहीं, बच्चे भी लगभग एक साल बाद स्कूल पहुंचने से काफी उत्साहित दिखे.

मेरठ के स्कूल गेट पर सैनिटाइज किया गया

इसके अलावा मेरठ (Meerut) के कमला देवी सरस्वती शिशु मंदिर में बच्चे समय से पहुंचे, यहां पर कक्षा पहली से पांचवी तक के बच्चों का तिलक लगाकर अभिनंदन भी किया जा रहा है. आने वाले सभी बच्चों को गेट पर पहले सैनिटाइज कराया जा रहा है. उसके बाद उनका नाम पता भी लिखा जा रहा है. जिससे किसी को कोई परेशानी होती है तो उसको तुरंत ही उपचार व्यवस्था कराई जा सके. स्कूल की प्रिंसिपल ने भी है कहा है कि अभिभावकों से बात हुई है अगर वह चाहते हैं तो अपने बच्चों को स्कूल भेज सकते हैं अन्यथा जो बच्चे स्कूल आना नहीं चाहते उनके लिए ऑनलाइन व्यवस्था चालू रहेगी.