NewsnowदेशSuvendu Adhikari ने तृणमूल कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से भी दिया इस्तीफा,...

Suvendu Adhikari ने तृणमूल कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से भी दिया इस्तीफा, TMC से पूरी तरह नाता तोड़ा।

सुवेंदु (Suvendu Adhikari) पिछले महीने अचानक सुर्खियों में आए थे, जब उन्होंने पश्चिम बंगाल कैबिनेट से इस्तीफा दिया था।

Kolkata: कभी ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) के सबसे करीबी नेताओं में शुमार रहे सुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) ने अब तृणमूल कांग्रेस (TMC) की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। एक दिन पहले ही उन्होंने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया था। सुवेंदु पिछले महीने अचानक सुर्खियों में आए थे, जब उन्होंने पश्चिम बंगाल कैबिनेट से इस्तीफा दिया था। उनके बीजेपी में शामिल होने की अटकलें तेज हो गई हैं।

पश्चिम बंगाल की सीएम और टीएमसी (TMC) चेयरपर्सन ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) को पत्र लिखकर इस्तीफा सौंपते हुए सुवेंदु ने लिखा, ‘मैं तृणमूल कांग्रेस (TMC) की प्राथमिक सदस्यता के साथ ही पार्टी और इसके संगठनों के सभी पदों से तत्काल प्रभाव से इस्तीफा सौंपता हूं।’ सुवेंदु पूर्व में ममता बनर्जी सरकार के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर भी रहे थे और उन्होंने हाल ही में अपना मंत्री पद छोड़ा था।

पश्चिम बंगाल विधानसभा के स्पीकर बिमान बनर्जी ने सुवेंदु (Suvendu Adhikari) का इस्तीफा मिलने की पुष्टि करते हुए कहा, ‘मुझे सचिवालय से सुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) का इस्तीफा मिल गया है। मैं इसके निरीक्षण के बाद डिटेल ऑर्डर जारी करूंगा। तब तक यह कहना गलत होगा कि इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है या फिर खारिज कर दिया गया है।’

ममता से क्यों नाराज हैं सुवेंदु?

सुवेंदु अधिकारी ममता कैबिनेट में नंबर दो के मंत्री कहे जाते थे लेकिन पिछले कुछ समय से जैसे-जैसे ममता के भतीजे अभिषेक का राजनीति में उदय होने लगा, सुवेंदु का कद घटने लगा। शुभेंदु इसी बात से नाराज थे। हालांकि खबर है कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी के लिए रणनीति तैयार कर रहे प्रशांत किशोर और उनकी एजेंसी की दखलअंदाजी सुवेंदु को रास नहीं आ रही।

बीजेपी में शामिल होने की अटकलें

सुवेंदु का परिवार भी बंगाल की राजनीति में अच्छा खासा दखल रखता है। उनके भाई और पिता राजनीति में हैं और सांसद हैं। दक्षिण बंगाल के इलाकों में इनका काफी प्रभाव है। इस बात की अटकलें हैं कि सुवेंदु इस हफ्ते अमित शाह के बंगाल दौरे के दौरान बीजेपी में शामिल हो सकते हैं।