NewsnowदेशJP Nadda के काफिले पर हमले के बाद गृह मंत्रालय ने बंगाल...

JP Nadda के काफिले पर हमले के बाद गृह मंत्रालय ने बंगाल के दो शीर्ष अफसरों को तलब किया

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने BJP प्रमुख जेपी नड्डा (BJP Chief JP Nadda) के काफिले पर हमले के मामले में केंद्र को रिपोर्ट भेजी है.

KolKataपश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने BJP प्रमुख जेपी नड्डा (BJP Chief JP Nadda) के काफिले पर हमले के मामले में केंद्र को रिपोर्ट भेजी है. जानकारी है कि गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने पश्चिम बंगाल के चीफ सेक्रेटरी और डीजीपी (DGP) को 14 दिसंबर को तलब किया गया है. मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी पुष्टि की है. बता दें कि जेपी नड्डा (JP Nadda) की बंगाल यात्रा के दौरान गुरुवार को 24 परगना में उनके काफिले पर ईंट-पत्थर से हमला किया गया था. नड्डा ने इसके लिए तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया था और गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने भी कहा था कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) को इसके लिए जवाब देना होगा.

इस घटना के बाद राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने बंगाल में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति पर अमित शाह (Amit Shah) को रिपोर्ट भेजी है. शाह ने नड्डा के काफिले पर हुए हमले के एक घंटे बाद ही रिपोर्ट मांगी थी. शाह ने इस हमले को ‘प्रायोजित हिंसा’ बताते हुए इस घटना पर भी रिपोर्ट मांगी थी. इस हमले में कुछ नेताओं को चोट लगी थी और काफिले में शामिल गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई थीं. 

सूत्रों के हवाले से जानकारी है कि अमित शाह (Amit Shah)19 और 20 को कोलकाता जा सकते हैं. पार्टी इस घटना पर ममता सरकार को आक्रामक रुख के साथ घेरना चाहती है. हालांकि, ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने बीजेपी (BJP) पर खुद यह हमला करवाने का आरोप लगाया है और कहा है कि बीजेपी (BJP) अगले छह महीनों के भीतर होने वाले विधानसभा चुनावों को देखते हुए ऐसा कर रही है.

नड्डा के काफिले पर हमले का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें दिख रहा है कि कार की विंडस्क्रीन पर ईंट फेंके जा रहे हैं. बताया गया कि यह कार जेपी नड्डा (JP Nadda) के काफिले का हिस्सा थी. बंगाल बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष ने आरोप लगाया है कि नड्डा के दौरे के समय पार्टी कार्यालय के बाहर लाठी-डंडों से लैस ‘भीड़’ जमा थी. नड्डा ने बाद में कहा कि वो बुलेटप्रूफ गाड़ी में थे इसलिए बच गए. उन्होंने यह भी कहा था कि उनपर मां दुर्गा की कृपा थी कि वो हमले में बच गए.