शनिवार, अक्टूबर 23, 2021
NewsnowदेशCorona Virus: लंदन से आई फ्लाइट में 6 यात्री मिले कोविड पॉजिटिव,...

Corona Virus: लंदन से आई फ्लाइट में 6 यात्री मिले कोविड पॉजिटिव, कोविड केयर सेंटर भेजा गया।

सोमवार की रात लंदन से आए एयर इंडिया की फ्लाइट में केबिन क्रू समेत कुल 266 यात्री थे, इनमें से छह लोग कोविड (Corona Virus) से संक्रमित पाए गए हैं.

New Delhi: ब्रिटेन में कोरोनावायरस (Corona Virus) का नया म्यूटेंट स्ट्रेन मिलने के बाद खलबली मची हुई है. भारत ने एहतियातन 22 दिसंबर की रात से 31 दिसंबर की रात तक ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स पर रोक (UK Flight Ban) लगा दी है लेकिन 22 दिसंबर की रात तक आने वाली फ्लाइट्स को लेकर सरकार अलर्ट है. हालांकि, इस चिंता के बीच लंदन से सोमवार की रात आई एक फ्लाइट में छह यात्री कोविड से संक्रमित मिले हैं.

नोडल अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक, लंदन से कल रात को 10.40pm पर एयर इंडिया से आई फ्लाइट में केबिन क्रू समेत कुल 266 यात्री आए थे. सभी का RT PCR टेस्ट कराया गया. सभी 266 यात्रियों की रिपोर्ट आ चुकी है. 266 में से 6 यात्री पॉजिटिव पाए गए हैं. सभी पॉजिटिव आये यात्रियों को कोविड केयर सेंटर में भेज दिया गया है. 

पॉजिटिव आए लोगों के सैंपल कलेक्ट कर लिए गए हैं, जिसे NCDC में आगे की रिसर्च के लिए भेजा जाएगा, जिसके तहत देखा जाएगा कि उनके अंदर मौजूद कोरोनावायरस (Corona Virus) क्या जाना-पहचाना है, या फिर यह म्यूटेंट कोरोनावायरस (Corona Virus) है, जो भारत भी चला आया है.

जानकारी है कि निगेटिव आए सभी यात्रियों को 7 दिन के अनिवार्य होम क्वारंटीन में रहना होगा. डिस्ट्रिक्ट ऑफिस में इनकी सारी जानकारी साझा की जाएगी. रोज़ाना मॉनिटरिंग होगी और क्वारंटीन के छठें दिन इन सभी का टेस्ट दोबारा किया जाएगा. सुबह 6.30 बजे ब्रिटिश एयरवेज (British Airways) से आने वाली फ्लाइट में कुल 213 यात्री केबिन क्रू समेत थे, जिनका RT-PCR टेस्ट होना था.

बता दें कि सोमवार को ज्वाइंट मॉनिटरिंग ग्रुप की मीटिंग में सुझाव दिया गया था कि ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट 31 दिसंबर तक के लिए निलंबित की जाए. यह फैसला 22 दिसंबर की रात 11:59 से शुरू होगा. सुझाव में कहा गया था कि ब्रिटेन से आने वाले सभी यात्रियों का एयरपोर्ट पर अनिवार्य रूप से RT-PCR टेस्ट किया जाए. संक्रमित पाए जाने वाले लोगों को इंस्टीट्यूशनल क्वॉरंटीन में भेज दिया जाए. टेस्ट में निगेटिव पाए जाने वाले लोगों को 7 दिनों तक घर में आइसोलेट होने की सलाह दी जाए और सरकार की ओर से मेडिकली मॉनिटर किया जाए.