Newsnowप्रमुख ख़बरेंFarmers Protest With Tractor March: बातचीत से पहले किसानों का शक्ति प्रदर्शन

Farmers Protest With Tractor March: बातचीत से पहले किसानों का शक्ति प्रदर्शन

नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) को लेकर सरकार और किसानों के बीच जारी गतिरोध समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है। सरकार के साथ अगले दौर की बातचीत के पहले आज किसान संगठन ट्रैक्टर मार्च (Tractor March) निकाल शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं।

नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों ने आज ट्रैक्टर मार्च (Tractor March) निकाला है। तस्वीरें दिल्ली के बुराड़ी की है जहां एक तरफ किसान ट्रैक्टर लेकर जमे हुए हैं तो दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस बैरिकेड्स लगाकर मोर्चा संभाले हुए है।

Tractor rally1
Image Source ANI

सोनीपत में ट्रैक्टर मार्च (Tractor March) में शामिल एक किसान ने कहा कि ये तो ट्रेलर है, पिक्चर अभी बाकी है। 26 जनवरी को हम पूरी पिक्चर दिखाएंगे।

मार्च में बड़ी संख्या में शामिल हुए ट्रैक्टर

नए कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसान संगठन आज शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं। कुंडली-मानेसर-पलवल केएमपी एक्सप्रेस-वे (KMP Expreeway) पर निकले ट्रैक्टर मार्च (Tractor March) में भारी संख्या में ट्रैक्टर शामिल हुए हैं। गाजियाबाद के यूपी गेट से भी 400 ट्रैक्टरों के साथ पलवल की तरफ मार्च निकाला गया।

पलवल में ट्रैक्टर लेकर निकले किसान

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ किसान हरियाणा के पलवल में ट्रैक्टर मार्च निकाल रहे हैं। किसान मजदूर महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवकुमार कक्का ने कहा कि हम यहां से सिंघु बॉर्डर जा रहे हैं। 

गाजियाबाद की तरफ NH-9 पर ट्रैफिक प्रभावित

किसानों के ट्रैक्टर मार्च (Tractor March) की वजह से दिल्ली बॉर्डर के आसपास ट्रैफिक काफी प्रभावित हैं। NH-9 पर गाजियाबाद की तरफ जाने वाला ट्रैफिक भी काफी प्रभावित है जिसकी वजह से हाइवे पर जाम भी लग गया है। 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च (Tractor March) निकालने से पहले ही किसान आज ट्रैक्टर मार्च निकाल रहे हैं।

टिकरी बॉर्डर पहुंचा महिलाओं का जत्था

एक्सप्रेसवे पर किसानों के ट्रैक्टर मार्च से पहले पंजाब के कई शहरों में ट्रैक्टर मार्च (Tractor March) निकाला गया। ट्रैक्टर मार्च के लिए महिलाओं का बड़ा जत्था ट्रैक्टर पर सवार होकर पहले ही टिकरी बॉर्डर पहुंच चुका है। दरअसल, 26 जनवरी को किसानों ने ट्रैक्टर रैली का ऐलान किया है। उसके पहले यह किसानों का शक्ति प्रदर्शन है।

कल होगी सरकार के साथ अगले दौर की बैठक

किसान संगठनों और सरकार के बीच इससे पहले 4 जनवरी को 8वें दौर की हुई बातचीत बेनतीजा रही थी। किसान संगठन तीनों कृषि कानूनों (Farm Laws) को वापस लिए जाने की अपनी मांग पर अड़े हुए है, वहीं सरकार लगातार नए कानून के फायदे गिनाने में लगी हुई है। अब दोनों पक्षों के बीच अगले दौर की बातचीत कल यानी 8 जनवरी को होगी।