NewsnowदेशSushil Chandra कल मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में पदभार ग्रहण करेंगे

Sushil Chandra कल मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में पदभार ग्रहण करेंगे

श्री सुशील चंद्रा (Sushil Chandra) चुनाव आयोग के शीर्ष पद पर उस समय पहुंचे जब विपक्षी दलों द्वारा नियमों को समान रूप से लागू करने में विफल होने के लिए आयोग की आलोचना की जा रही है।

नई दिल्ली:  सुशील चंद्रा (Sushil Chandra) को भारत के नए मुख्य चुनाव आयुक्त (Chief Election Commissioner) के रूप में नियुक्त किया गया है। वह मंगलवार को कार्यभार संभालेंगे और 14 मई 2022 को सेवानिवृत्त होने से पहले एक साल से कम समय तक सेवा देंगे।

2019 में चुनाव आयुक्त नियुक्त किए गए श्री चंद्रा (Sushil Chandra), सुनील अरोड़ा (Sunil Arora) की जगह भारत के शीर्ष मतदान अधिकारी के रूप में नियुक्त हुए हैं। अपने कार्यकाल के दौरान वे उत्तर प्रदेश, पंजाब, गोवा, उत्तराखंड और मणिपुर में विधानसभा चुनावों के संचालन की देखरेख करेंगे।

Assembly Elections 2021: मतदान का वक्त बढ़ाया गया, पहले चरण का मतदान 27 मार्च को होगा

चुनाव आयुक्त के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान, श्री चंद्रा ने 10 से अधिक राज्यों के विधानसभा चुनावों की निगरानी की और पूरी नामांकन प्रक्रिया को ऑनलाइन करने की दिशा में काम किया। चुनाव आयोग में अपनी नियुक्ति से पहले, वह केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) के अध्यक्ष थे।

निवर्तमान सीईसी (Chief Election Commissioner), सुनील अरोड़ा, उन्होंने सबसे खास तौर पर 2019 के लोकसभा चुनाव और पिछले साल अक्टूबर और नवंबर में बिहार विधानसभा चुनाव के संचालन की कमान सम्भाली – जो कोरोनवायरस महामारी के बीच पहली बड़ी चुनावी कवायद थी।

उनकी अंतिम जिम्मेदारियों में असम, बंगाल, केरल, पुडुचेरी और तमिलनाडु में राज्य चुनावों का संचालन शामिल था, उन्होंने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सांप्रदायिक आधार पर वोट मांगने के लिए उनके 24 घंटे के चुनाव प्रचार अभियान को बैन किया, और ये उनके अंतिम कृत्यों में से एक हो सकते हैं।