Newsnowदेशडॉ रेड्डीज से 67 लाख Sputnik V वैक्सीन की खुराक मांगी है:...

डॉ रेड्डीज से 67 लाख Sputnik V वैक्सीन की खुराक मांगी है: अरविंद केजरीवाल

केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा, "हमने कोविशील्ड और कोवैक्सिन की 67 लाख खुराक मांगी है और डॉ रेड्डीज को भी इतनी ही वैक्सीन उपलब्ध करवाने को लिखा है जो भारत में Sputnik V के डीलर हैं।"

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार ने डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज को रूसी Covid-19 वैक्सीन Sputnik V की लगभग 67 लाख खुराक की आपूर्ति के लिए लिखा है। दिल्ली के सामने वैक्सीन की कमी का संकट गहराया हुआ है।

डॉ रेड्डीज लैबोरेट्रीज ने शुक्रवार को देश में इस्तेमाल होने वाला पहला विदेशी निर्मित टीका Sputnik V लॉन्च किया। अभी के लिए, दो खुराक वाली Covid Vaccine Sputnik V को पूरे भारत में 35 केंद्रों पर उतारा जाएगा। स्पुतनिक के पहले टीके रूस से आयात किए जाएंगे जो पूरी तरह से विकसित और लगाने के लिए तैयार होंगे।

Covid Vaccine Sputnik लाइट भारत की पहली एक खुराक वाली वैक्सीन हो सकती है

भारत में वैक्सीन का निर्माण करने वाली डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज का कहना है, आयातित वैक्सीन शॉट की कीमत भारत में 995.40 होगी, डॉ रेड्डीज द्वारा सॉफ्ट लॉन्च के हिस्से के रूप में हैदराबाद में टीके की पहली खुराक दी गई। भारत में वैक्सीन बनने के बाद कीमत में कमी लाई जाएगी।

Sputnik V भारत में सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ कोविशिल्ड और भारत बायोटेक के कोविंद के बाद इस्तेमाल होने वाला तीसरा टीका है।

इस सप्ताह की शुरुआत में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दावा किया था की कोवैक्सिन (Covaxin) निर्माता भारत बायोटेक ने राष्ट्रीय राजधानी को अतिरिक्त खुराक प्रदान करने से इनकार कर दिया है।श्री केजरीवाल की घोषणा इस मायने में काफ़ी अहमियत रखती है।

केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा, “हमने कोविशील्ड और कोवैक्सिन की 67 लाख खुराक मांगी है और डॉ रेड्डीज को भी इतनी ही वैक्सीन उपलब्ध करवाने को लिखा है जो भारत में स्पुतनिक के डीलर हैं।”

कोविद वैक्सीन Sputnik V अगले सप्ताह से बाजार में आने की उम्मीद, केंद्र

उन्होंने कहा कि हमें डॉ रेड्डीज की प्रतिक्रिया का इंतजार है।

उन्होंने कहा, “हमने उनसे (Dr Reddy’s) पूछा है कि वे कितनी खुराक और कब तक दे सकते हैं। उनकी तरफ से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।”

श्री केजरीवाल ने कहा कि कई देशों के अनुभव से पता चलता है कि सामूहिक टीकाकरण के माध्यम से Covid-19 के संक्रमण को कम किया जा सकता है।

उन्होंने आशा व्यक्त की कि देश में टीकाकरण कार्यक्रम वैक्सीन की बढ़ती उपलब्धता के साथ गति पकड़ेगा।